शादी में हो रही देरी, आजमाएं ये 6 कारगर उपाय

वास्तु शास्त्र का सम्बन्ध हमारे सम्पूर्ण जीवन से है। वास्तु दोष होने पर कैरियर, धन, संतान, दाम्पत्य जीवन, संतान की पढ़ाई और उनके विवाह आदि में समस्याएं आने लगती हैं। सब कुछ ठीक होने के बावजूद अगर विवाह योग्य लड़के अथवा लड़की के विवाह में अनावश्यक विलम्ब हो रहा हो तो इसका कारण जन्म कुंडली में ग्रह दोष या वास्तु दोष हो सकता है।1- वास्तु शास्त्र के अनुसार विवाह योग्य युवक-युवती जिस पलंग पर सोते हैं, उसके नीचे लोहे की वस्तुएं या व्यर्थ का सामान नहीं रखना चाहिए। ऐसा होने से उनके विवाह योग में बाधा उत्पन्न होती है।2- वास्तु के नियमों के अनुसार विवाह योग्य युवक-युवतियों को उत्तर या उत्तर-पश्चिम दिशा में स्थित कमरे में रहना चाहिए। ऐसा करने से इनके लिए विवाह के प्रस्ताव आने लगते हैं।
Share this article

यह भी पढ़े

इस दिशा में हो मंदिर, तो घर में होती है कलह

यह उपाय करने से शांत होंगे शनि दोष

हनुमानजी व शनिदेव के बीच क्या है रिश्ता

इन बातों का रखें ध्यान, भरे रहेंगे धन के भंडार

घर के कई वास्तु दोष दूर करती है तुलसी

कछुआ से लाए घर में ढेर सारी सुख और समृद्धि