अब स्पर्श से हो जाएगा अंगों का उपचार

वाशिंगटन। भारतीय मूल के एक वैज्ञानिक सहित वैज्ञानिकों के एक समूह ने एक नया उपकरण का इजात किया है। इस उपकरण की मदद से अब चोटिल ऊतकों, रक्त धमनियों और नसों के उपचार में मदद मिलेगी। यह नया उपकरण शरीर में त्वचा कोशिकाओं को केवल छूकर किसी भी अन्य प्रकार की कोशिका में बदल सकता है। अमेरिका की ओहायो स्टेट यूनिवर्सिटी के अनुसंधानकर्ताओं ने इस नई तकनीक को विकसित किया है जिसे ‘टिशु नैनोट्रांस्फेक्शन’ (टीएनटी) के नाम से जाना जाता है। इसका परीक्षण चूहों एवं सूअरों पर किया गया है। इस तकनीक की मदद से बुरी तरह से घायल उन पैरों में त्वचा कोशिकाओं को वैस्कुलर कोशिकाओं में बदला गया जिनमें रक्त प्रवाह बाधित हो गया था। एक सप्ताह के भीतर घायल पैर में सक्रिय रक्त कोशिकाएं दिखाई दीं और दूसरे सप्ताह में पैर ठीक हो गया। प्रयोगशाला परीक्षणों में इस तकनीक के माध्यम से जीवित शरीर में त्वचा कोशिकाओं को तंत्रिका कोशिकाओं में बदलकर ऐसे चूहे में इसका इस्तेमाल किया गया जिसे हाल में मस्तिष्क आघात हुआ था।
Share this article

यह भी पढ़े

वीडियो : पक्का पहले नहीं देखी होगी यह ‘हाईटेक चोरी’

एक ऐसा मंदिर जिसमें शिला रूपी स्वयंशम्भू का आकार बढ़ रहा है

यहां सास पिलाती है दूल्हे को शराब, तभी होती है शादी

भारतीय वैज्ञानिक का दावा, यहां रहते हैं एलियंस

मौत से सामना कराते हुए जिंदगी से रूबरू कराते सबसे खतरनाक रेलवे रूट्स

यहां के पुरुषों को लगी यह लत, परेशान पत्नियां दे रही हैं तलाक